पति ने दिया धोखा तो इंसाफ के लिए धरने पर जा बैठी विवाहिता

विजय कुमार खेतासराय संवाददाता

 

पति ने दिया धोखा तो इंसाफ के लिए धरने पर जा बैठी विवाहिता

 

 

 

खेतासराय(जौनपुर)स्थानीय थाना क्षेत्र के जमदहा गांव में विवाहिता को घर से निकाले जाने पर स्थानीय पुलिस और एसपी कार्यालय से मदद नही मिली तो ग्रामीणों के साथ विवाहिता पति के चौखट पर धरने पर बैठ गई । दुधमुंहे बच्ची के साथ दरवाज़े के चौखट पर बैठी महिला के साथ न्याय के लिए ग्रामीण भी समर्थन में आ गए । घर के अन्य सदस्य अंदर से कुंडी लगाकर खुद को क़ैद कर लिया ।विवाहिता ने न्याय मिलने तक धरना जारी रखने की बात कही है । दरअसल मूल रूप से सरायख्वाजा के शिकारपुर गांव की रहने वाली सुनीता महाराष्ट्र के कल्याण में बतौर गार्ड की नौकरी करती थी, वही पर अपने परिवार के साथ रहती थी । पांच साल पूर्व जमदहा निवासी मिंटू प्रजापति से आँखे चार हो गई । दोंनो ने मंदिर में शादी कर लिया । वहाँ पर पति पत्नी के रूप में रहने लगे । इस दौरान देढ़ साल की एक पुत्री नव्या का जन्म हुआ । पति मिंटू एक ट्रावेल एजेंसी में काम करता था । सब कुछ ठीक ठाक चल रहा था । आरोप है कि पति ने छह माह पूर्व बिना बताएं गांव चला आया । तीन माह के इंतजार  के बाद किसी तरह पुलिस की मदद से वह घर मे प्रवेश पाई । कुछ दिन बाद पति घर छोड़कर फ़रार हो गया । बमुश्किल दो माह बीते होंगे आरोप है कि सुनीता को सांस,ननद और देवर प्रताड़ित करने लगे और घर छोड़ने पर दबाव बनाने लगे । विवाहिता के कोख़ में सात माह का गर्भ भी है । घर से निकाले जाने के बाद स्थानीय पुलिस और एसपी कार्यालय का चक्कर लगाया लेकिन कोई मदद नही मिला तो ग्रामीणों के सहयोग से चौखट पर धरने पर बैठ गई । विवाहिता ने कहा जब तक मुझे और मेरी बच्ची का अधिकार नही मिल जाता हम धरने पर बैठे रहेंगे । इस बाबत एसओ यजुर्वेन्द्र सिंह से पूछे जाने पर बताया की  मामला संज्ञान में आया है, आरोपी मुंबई में है । आरोपी पर विधिक कार्रवाई होगी ।

Live Cricket Live Share Market

जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button
Close
Close